Disclaimer

ब्लॉग पर दिखाये गए विज्ञापन गूगल तथा थर्ड पार्टी द्वारा दिखाये जाते हैं । उनकी प्रमाणकिता, प्रासंगिकता तथा उपयोगिता पर स्वविवेक से निर्णय लें ।

21 मार्च 2012

नवरात्रि साधना के सामान्य नियम



  1. साधना प्रारम्भ करने से पहले हाथ में जल लेकर अपनी मनोकामना बोले.
  2. महाविद्याओं की साधना दीक्षा लेकर ही करे.
  3. जाप के पहले तथा बाद मे गुरु मन्त्र की १ माला जाप करें.

    ॥ ऊं परम तत्वाय नारायणाय गुरुभ्यो नमः ॥

  4. नवरात्रि में मंत्र का जाप रात्रि काल में ९ से ३ बजे के बीच करना चाहिये.
  5. जहाँ दिशानिर्देश न हो वहाँ उत्तर या पूर्व की ओर देखते हुए जाप करें.
  6. यथासंभव एकांत वास करें.
  7. सात्विक आचार व्यव्हार रखें.
  8. बहुत आवश्यक हो तो पत्नी से संपर्क रख सकते हैं. 
  9. किसी स्त्री का अपमान ना करें.
  10. क्रोध न करें . 
  11. किसी को नुक्सान न पहुंचाए.
  12. साधना को गोपनीय रखें.
  13. हो सके तो साधना स्थल पर ही रात को सोयें.
  14. किसी को ना तो कोसें और ना ही व्यर्थ का प्रलाप करें.
  15. यथा संभव मौन रखें.
  16. साधना में बैठने से पहले हल्का भोजन करें.
  17. जप के बाद दोनों कान पकड़कर सभी प्रकार की गलतियों के लिए माफ़ी मांगें
  18. अंत में जप गुरु को समर्पित करें .
  19. उग्र सधानाये बच्चे और महिलाएं न करें.
  20. गुरु से अनुमति लेकर ही साधना करें .
  21. सिद्धि का दुरुपयोग न करे वरना परिणाम भयानक तथा विनाशकारी होंगे .

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

आपके सुझावों के लिये धन्यवाद..
आपके द्वारा दी गई टिप्पणियों से मुझे इसे और बेहतर बनाने मे सहायता मिलेगी....
यदि आप जवाब चाहते हैं तो कृपया मेल कर दें . अपने अल्पज्ञान से संभव जवाब देने का प्रयास करूँगा.मेरा मेल है :-
dr.anilshekhar@gmail.com